तेरा वैभव अमर रहे मां हम दिन चार रहें न रहें

कभी विश्व गुरु रहे भारत की धर्म संस्कृति की पताका, विश्व के कल्याण हेतू पुनः नभ में फहराये कभी श्रापित हनुमान अपनी शक्तिओं का विस्मरण कर चुके थे, जामवंत जी के स्मरण कराने पर वे राक्षसी शक्तियों को परास्त करते हैंआज अपनी संस्कृति, परम्पराएँ, इतिहास, शक्तियों व क्षमताओं को विस्मृत व कलंकित करते इस समाज को विश्व कल्याणार्थ राह दिखायेगा युग दर्पण सार्थक और सटीक जानकारी का दर्पण तिलक (निस्संकोच ब्लॉग पर टिप्पणी/अनुसरण/निशुल्क सदस्यता व yugdarpan पर इमेल/चैट करें, संपर्कसूत्र-तिलक संपादक युगदर्पण मीडिया समूह YDMS 09911111611, 9999777358.

YDMS चर्चा समूह

बिकाऊ मीडिया -व हमारा भविष्य

: : : क्या आप मानते हैं कि अपराध का महिमामंडन करते अश्लील, नकारात्मक 40 पृष्ठ के रद्दी समाचार; जिन्हे शीर्षक देख रद्दी में डाला जाता है। हमारी सोच, पठनीयता, चरित्र, चिंतन सहित भविष्य को नकारात्मकता देते हैं। फिर उसे केवल इसलिए लिया जाये, कि 40 पृष्ठ की रद्दी से क्रय मूल्य निकल आयेगा ? कभी इसका विचार किया है कि यह सब इस देश या हमारा अपना भविष्य रद्दी करता है? इसका एक ही विकल्प -सार्थक, सटीक, सुघड़, सुस्पष्ट व सकारात्मक राष्ट्रवादी मीडिया, YDMS, आइयें, इस के लिये संकल्प लें: शर्मनिरपेक्ष मैकालेवादी बिकाऊ मीडिया द्वारा समाज को भटकने से रोकें; जागते रहो, जगाते रहो।।: : नकारात्मक मीडिया के सकारात्मक विकल्प का सार्थक संकल्प - (विविध विषयों के 28 ब्लाग, 5 चेनल व अन्य सूत्र) की एक वैश्विक पहचान है। आप चाहें तो आप भी बन सकते हैं, इसके समर्थक, योगदानकर्ता, प्रचारक,Be a member -Supporter, contributor, promotional Team, युगदर्पण मीडिया समूह संपादक - तिलक.धन्यवाद YDMS. 9911111611: :

Saturday, December 6, 2014

हमारी आस्था और गरिमा केंद्र

हमारी आस्था और गरिमा केंद्र
Photo: Once we start compromising with our self respect,
There is no end to it.
-----------------------------------
Time is not any excuse to deny justice because if that was true, any criminal will go to the court and say- "I committed this crime last week which is past so lets move on. Set me free".

This temple is highly revered place of our faith and those who do not see it the same way are welcome to build a 'secular' structure in their own homes. Kindly do not tread upon our faith & our dignity.

For thousand years, entire world has tried to exploit us.
However, we have not gone around the world killing, enslaving or converting people in the name of our god. All we want is for the world to understand that we will not compromise with our space anymore.
-----------------------------------
Know the Truth about Ayodhya Issue -
https://www.youtube.com/watch?v=kLS37efMGfEयह मंदिर हमारी आस्था का बहुत ही प्रतिष्ठित स्थान है और जो लोग इसे यह स्थान नहीं दे पा रहे है; कृपया हमारी आस्था और हमारी गरिमा को कुचलने का दुस्साहस नहीं करें। वे चाहें तो अपने घरों में एक 'धर्मनिरपेक्ष' संरचना का निर्माण कर सकते हैं।

सहस्त्र वर्षों से, पूरे विश्व ने हमारा अनुचित लाभ उठाने का प्रयास किया है।
हम कभी भी, हमारे भगवान के नाम पर लोगों की हत्या, उन को दास बनाने या धर्मान्तरण हेतु विश्व भर में नहीं गए। हम सभी मात्र इतना चाहते हैं कि हम हमारे आस्था केन्द्रों या भूमि के साथ अब और समझौता सहन नहीं करेंगे, विश्व को यह समझने की आवश्यकता है।
लिंक पर बटन दबाएं -अयोध्या मुद्दे के बारे में सच्चाई का जाने - https://www.youtube.com/watch?v=kLS37efMGfE
This temple is highly revered place of our faith and those who do not see it the same way are welcome to build a 'secular' structure in their own homes. Kindly do not tread upon our faith & our dignity.

For thousand years, entire world has tried to exploit us.
However, we have not gone around the world killing, enslaving or converting people in the name of our god. All we want is for the world to understand that we will not compromise with our space anymore.
Know the Truth about Ayodhya Issue -
-----------------------------------

Photo: How Nepal treats Maa Sita's birthplace
& how India has treated Sri Ram's birthplace.

Sharing this so we remember where secularism and appeasement have taken the majority community of India.
Let's resolve to restore our pride, or dignity and honour - with the government or without it.

People often say there are so many temples in India what's the need of this temple. 
To them it suffices to say that this is a symbol of our honour. It's a place of utmost faith, reverence and purity.
---------------------------------------
In Pic: 
[1] Janaki Mandir, Janakpurdham, Nepal
[2] Ram Mandir, Ayodhya, Indiaआत्म सम्मान, गरिमा और गौरवका संकल्प: राम मंदिर का भव्य पुनरुद्धार। यह मात्र एक मंदिर नहीं; यह हमारी प्रतिष्ठा का प्रतीक, परम  श्रद्धा का आस्थाकेन्द्र और पवित्र स्थान है। माता सीता की भव्य जन्म स्थली जनकपुरधाम नेपाल में, जहाँ शर्मनिरपेक्ष तुष्टीकरण नहीं हिन्दू राज्य है किन्तु अयोध्या में श्रीराम जन्म स्थली की दुर्दशा, शर्मनिरपेक्ष तुष्टीकरण का परिणाम है।
कभी विश्व गुरु रहे भारत की, धर्म संस्कृति की पताका;
 विश्व के कल्याण हेतू पुनः नभ में फहराये | - तिलक 
Post a Comment