तेरा वैभव अमर रहे मां हम दिन चार रहें न रहें

कभी विश्व गुरु रहे भारत की धर्म संस्कृति की पताका, विश्व के कल्याण हेतू पुनः नभ में फहराये कभी श्रापित हनुमान अपनी शक्तिओं का विस्मरण कर चुके थे, जामवंत जी के स्मरण कराने पर वे राक्षसी शक्तियों को परास्त करते हैंआज अपनी संस्कृति, परम्पराएँ, इतिहास, शक्तियों व क्षमताओं को विस्मृत व कलंकित करते इस समाज को विश्व कल्याणार्थ राह दिखायेगा युग दर्पण सार्थक और सटीक जानकारी का दर्पण तिलक (निस्संकोच ब्लॉग पर टिप्पणी/अनुसरण/निशुल्क सदस्यता व yugdarpan पर इमेल/चैट करें, संपर्कसूत्र-तिलक संपादक युगदर्पण मीडिया समूह YDMS 09911111611, 9999777358.

what's App no 9971065525


DD-Live YDMS दूरदर्पण विविध राष्ट्रीय अन्तरराष्ट्रीय विषयों पर दो दर्जन प्ले-सूची

https://www.youtube.com/channel/UCHK9opMlYUfj0yTI6XovOFg एवं


YDMS चर्चा समूह

बिकाऊ मीडिया -व हमारा भविष्य

: : : क्या आप मानते हैं कि अपराध का महिमामंडन करते अश्लील, नकारात्मक 40 पृष्ठ के रद्दी समाचार; जिन्हे शीर्षक देख रद्दी में डाला जाता है। हमारी सोच, पठनीयता, चरित्र, चिंतन सहित भविष्य को नकारात्मकता देते हैं। फिर उसे केवल इसलिए लिया जाये, कि 40 पृष्ठ की रद्दी से क्रय मूल्य निकल आयेगा ? कभी इसका विचार किया है कि यह सब इस देश या हमारा अपना भविष्य रद्दी करता है? इसका एक ही विकल्प -सार्थक, सटीक, सुघड़, सुस्पष्ट व सकारात्मक राष्ट्रवादी मीडिया, YDMS, आइयें, इस के लिये संकल्प लें: शर्मनिरपेक्ष मैकालेवादी बिकाऊ मीडिया द्वारा समाज को भटकने से रोकें; जागते रहो, जगाते रहो।।: : नकारात्मक मीडिया के सकारात्मक विकल्प का सार्थक संकल्प - (विविध विषयों के 28 ब्लाग, 5 चेनल व अन्य सूत्र) की एक वैश्विक पहचान है। आप चाहें तो आप भी बन सकते हैं, इसके समर्थक, योगदानकर्ता, प्रचारक,Be a member -Supporter, contributor, promotional Team, युगदर्पण मीडिया समूह संपादक - तिलक.धन्यवाद YDMS. 9911111611: :

Saturday, July 24, 2021

गुरु पूर्णिमा की शुभकामनाएं!

 गुरुर्ब्रह्मा गुरुर्विष्णुः गुरुर्देवो महेश्वरः। गुरुरेव परंब्रह्म तस्मै श्रीगुरवे नमः।। गुरु पूर्णिमा की शुभकामनाएं! 

जहां डाल-डाल पर सोने की चिड़िया करती हैं बसेरा, वो भारत देश है मेरा। जहां सत्य अहिंसा और धर्म का पग पग लगता डेरा, वो भारत देश है मेरा। जय भारती, जय भारती, जय भारती, जय भारती।। 

तिलक रेलन आज़ाद वरिष्ठ पत्रकार

-युगदर्पण®2001 मीडिया समूह YDMS👑 

कभी विश्व गुरु रहे भारत की, धर्म संस्कृति की पताका; विश्व के कल्याण हेतू पुनः नभ में फहराये | - तिलक

Monday, January 20, 2020

YDMS👑प्रस्तुति... DD-Live YDMS दूरदर्पण, CD-Live YDMS चुनावदर्पण देश को समर्पित, दो यू-टयूब राष्ट्रीय चैनल.

👑आज अपने जन्म दिवस के अवसर पर, देश को समर्पित हैं, दो यू-टयूब राष्ट्रीय चैनल 
सकारात्मक सार्थक श्रेष्ठ चयनित समाचार का प्रतीक YDMS👑प्रस्तुति
DD-Live YDMS दूरदर्पण विविध राष्ट्रीय अन्तरराष्ट्रीय विषयों पर दो दर्जन प्ले-सूची  https://www.youtube.com/channel/UCHK9opMlYUfj0yTI6XovOFg एवं
देश की राजनीति पर युगदर्पण मीडिया समूह का नया यू-टयूब चैनल CD-Live YDMS चुनावदर्पण
https://www.youtube.com/channel/UCjS_ujNAXXQXD4JZXYB-d8Q/channels?disable_polymer=true
कभी विश्व गुरु रहे भारत की, धर्म संस्कृति की पताका; विश्व के कल्याण हेतू पुनः नभ में फहराये | - तिलक

Monday, December 2, 2019

गीता प्रेरणा महोत्सव की शुरुआत,कार्यक्रम में पहुंचे सीएम मनोहर लाल



अन्यत्र, हिन्दू समाज व हिदुत्व और भारत,
को प्रभावित करने वाली जानकारी का दर्पण है:
विश्वदर्पण | आओ, मिलकर इसे बनायें; -तिलक

Sunday, May 8, 2016

प्रभु रेल: मात्र 830 रुपया प्रतिदिन में ‘भारत दर्शन’ करें

प्रभु रेल: मात्र 830 रुपया प्रतिदिन में ‘भारत दर्शन’ करें 
रेल मंत्रालय के इस भारत दर्शन संकुल (पैकेज) में शामिल है; रेल यात्रा, सड़क-परिवहन के साथ-साथ ठहरने और खान-पान व्यवस्था भी। 
न दि, 8 मई (तिलक)  भारतीय रेल ने तीर्थ यात्रियों को बड़ी सुविधा देते हुए, भारत दर्शन पर्यटक गाड़ी आरम्भ की है। इस गाड़ी से तीर्थ दर्शनार्थी शिरडी, तिरुपति, जगन्नाथ पुरी, बैद्यनाथ धाम सहित अन्य ज्योतिर्लिगों का भी दर्शन करेंगे। ये गाड़ी प्रथम बार 8 मई को पूर्व दर्शन हेतु चंडीगढ़ से प्रस्थान होगी, बताया जा रहा है कि इसमें 10 डिब्बे होगें। ये गाड़ी चंडीगढ़ से चलकर दिल्ली पहुंचेगी, फिर अयोध्या, वाराणसी, गया के रास्ते बैद्यनाथ धाम, जगन्नाथ पुरी होते हुए गंगा सागर पहुंचेगी। 
इस गाड़ी ने अपनी 15 दिवसीय पहली यात्रा के लिए सारे यात्रियों का पंजीकरण हो चुका है, रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि ये गाड़ी विशेषकर तीर्थ यात्रियों को ध्यान में रखते चलाई गई है, इसमें तीर्थ यात्रियों के बजट का भी विशेष ध्यान रखा गया है, 830 रुपये प्रति दिन में इस गाड़ी से यात्रा के अतिरिक्त यात्रियों को परिवहन, भोजन सहित जहाँ आवश्यक हुआ ठहरने की व्यवस्था होगी, ये गाड़ी देश के महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों की यात्रा करवाएंगी। 
ज्ञात हो कि रेल मंत्रालय के इस भारत दर्शन संकुल के तहत गाड़ी 7 ज्योतिर्लिगों की यात्रा करवाएगी, अब अगली गाड़ी 23 मई को चंडीगढ़ से प्रस्थान होगी। ये गाड़ी चंडीगढ़ से दिल्ली पहुंचेगी, फिर उज्जैन (महाकालेश्वर और ओंकारेश्वर), द्वारका, सोमनाथ औरागाबाद और नासिक की यात्रा कराएगी। 
इतना ही नहीं, ये गाड़ी दक्षिण सहित कई महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों की यात्रा करवाएगी। दक्षिण के धार्मिक स्थलों के लिए गाड़ी चंड़ीगढ़ से 27 जून को चलेगी, ये गाड़ी दिल्ली होते हुए शिरडी, तिरुपति, कांचीपुरम, रामेश्वरम, मदुरै, कन्याकुमारी, मैसूर और बंगलोर की यात्रा कराएगी। बताया जा रहा है कि इस गाड़ी में प्रशिक्षित पर्यटन प्रबंधक भी अपनी सेवाएं देंगे, ताकि पर्यटकों को कोई असुविधा न हो। गाड़ी में अभी 10 डिब्बे ही है। 
कभी विश्व गुरु रहे भारत की, धर्म संस्कृति की पताका; विश्व के कल्याण हेतू पुनः नभ में फहराये | - तिलक
http://paryatandharohardarpan.blogspot.in/2016/05/830.html

Thursday, April 14, 2016

कल रामनवमी है। अर्थात प्रभु श्री राम का जन्म। कुछ दुर्लभ संयोग

कल रामनवमी है। अर्थात प्रभु श्री राम का जन्म। कुछ दुर्लभ संयोग 
इस शुभ दिन आइए एक शुभ व्रत लें। देवी महागौरी जयघोष से आठवां नवरात्र संपन्न हुआ, आठ दिवसीय पर्व के नवरात्र व्रत की व्यस्तता से निकल कर, अब नकारात्मक तत्वों से रक्षा सामाजिक संकल्प का व्रत लें। 
चैत्र नवरात्र के नौवें दिन, देश के कई भागों में रामनवमी पर भगवान श्रीराम जन्मोत्सव का त्योहार बड़े हर्षोल्लास से मनाया जाता है। हिंदू धर्म में तो श्रीरामनवमी का एक विशेष महत्व है। भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव तो वैसे ही अति शुभ समय होता है, किन्तु बार इस शुभ दिन कुछ और दुर्लभ संयोग बन रहे हैं। यह विशेष योग जो शुभ तत्व को कई गुना वृद्धि प्रदान वाले हैं। 
रामनवमी इसबार 15 अप्रैल को है। इस बार रामनवमी पर उच्च का सूर्य, बुध के साथ मिलकर बुधादित्य योग बना रहा है। ये अति विशेष मुहूर्त है। साथ ही पुष्य नक्षत्र भी है। अर्थात पुष्य नक्षत्र के साथ-साथ बुधादित्य योग का विशेष संयोग भी बन रहा है। इतना विशेष योग भी कई वर्षों बाद बन रहा है। चैत्र और शारदीय नवरात्र के नौवें दिन नवमी को दोनों ही बार धूम-धाम के साथ मनाया जाता है। इस दिन पूजा-पाठ, दान-पुण्य का अधिक महत्व होता है। नवरात्र में कई लोग व्रतादि रखते हैं और विशेषकर चैत्र में रामनवमी के दिन श्रद्धालु पूजा-पाठ के उपरांत इसे तोड़ते हैं। 
रामनवमी के दिन भगवान श्रीराम की पूजा-अर्चना करने से विशेष पुण्य मिलता है। इस दिन भगवान श्रीराम का जन्म हुआ था। इसीलिए इस दिन पूरे समय पवित्र मुहूर्त होता है। इस दिन नए घर, दुकान या प्रतिष्ठान में प्रवेश किया जा सकता है। किसी भी प्रकार का क्रय, गृहप्रवेश और शुभ कार्यों के लिए यह विशेष संयोग लाभकारी माना गया है। 
राम नवमी के दिन उपवास के पश्चात भक्तों को भगवान श्रीराम जी की पूजा-अर्चना करने के बाद ब्राह्मणों को भोजन कराना चाहिए और दान देना चाहिए। भगवान श्रीराम की पूजा अर्चना करने से कृपा बनी रहेगी और घर में धन-समृद्धि की वृद्धि भी होगी। 
नकारात्मक भांड मीडिया जो असामाजिक तत्वों का महिमामंडन करे, 
उसका सकारात्मक व्यापक विकल्प का सार्थक संकल्प, ले कर करे; 
प्रेरक राष्ट्र नायको का यशगान -युगदर्पण मीडिया समूह YDMS - तिलक संपादक 
कभी विश्व गुरु रहे भारत की, धर्म संस्कृति की पताका; विश्व के कल्याण हेतू पुनः नभ में फहराये | - तिलक
http://samaajdarpan.blogspot.in/2016/04/blog-post_14.html

Monday, March 28, 2016

विक्षिप्त क्यों? भारत, मोदी तथा हिंदुत्व के विरोधी

विक्षिप्त क्यों? भारत, मोदी तथा हिंदुत्व के विरोधी 
कभी विश्व गुरु रहे भारत की, धर्म संस्कृति की पताका; विश्व के कल्याण हेतू पुनः नभ में फहराये।
अपनी धर्म संस्कृति को जीवन शैली का आधार बनायें, भारत को एक बार पुनः विश्व गुरु बनायें। - तिलक
शिवलिंग, वर्षप्रतिपदा तथा अन्य सभी भारतीय मान्यताओं का वैज्ञानिक आधार जानिए। रेडियोधर्मिता का किसी शिवलिंग, ज्योतिर्लिंग से सम्बन्ध जानिए। नालंदा तक्षशिला की शिक्षा जानिए। तब समझमें आएगा, भारत वास्तव में विश्व गुरु था, हिंदू व उसमे विश्व गुरु के, वे तत्व विध्यमान होने से, क्यों बौखलाते हैं भारत के शत्रु ? तथा भारत में नई सत्ता से भारत के पुनर्निर्माण की प्रक्रिया, क्यों उन्हें विक्षिप्त बना रही है।
आपको यह जानकर आश्चर्य होगा तो कि शिवलिंग ब्रह्माण्ड का प्रतिनिधी, रेडियोधर्मिता का प्राकृतिक केंद्र व प्रतीक माना जाता है। इतना ही नहीं, सक्रिय रेडियोधर्मिता सभी ज्योतिर्लिंग की विशेषता है। अर्थात सम्पूर्ण वैज्ञानिक शक्तिपुंज की आराधना। यह प्रमाण है, युगों पूर्व भारत के वैज्ञानिक चरम का।
किन्तु शर्मनिरपेक्ष दलों व उनके दल्लों, शर्मनिरपेक्ष भांड मीडिया ने उसके प्रति नकारात्मक भाव भरना ही है।
उसी नकारात्मक शर्मनिरपेक्ष भांड मीडिया का सकारात्मक विकल्प, विविध विषयों के 30 ब्लॉग YDMS
www.yugdarpan.simplesite.com

Monday, February 8, 2016

अब आध्यात्मिक संदेश विस्तार भी: अमित शाह

अब आध्यात्मिक संदेश विस्तार भी: अमित शाह 
(वृंदावन )
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बताया कि नरेन्द्र मोदी नीत केंद्र सरकार मात्र देश का भौतिक विकास ही नहीं करेगी, अपितु भारत के आध्यात्मिक संदेश को भी विश्व में फैलाएगी। शाह ने यहां शांति सेवाधाम द्वारा स्थापित प्रिया कांतजू मंदिर के उद्घाटन के अवसर पर कहा, ‘‘देश की राजनीति वर्षों से मिथक के रास्ते पर चलकर ऐसी हो गयी थी कि धर्म से अंतर पैदा गया था, किन्तु मोदीजी ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने पद के लिए नामित होने के बाद काशी जाकर गंगा आरती की।’’ 
उन्होंने कहा, ‘‘पहली बार देश को ऐसा प्रधानमंत्री मिला है जो गंगा को निर्मल, अविरल बनाने की चाह रखता है। सरकार ने देश की संस्कृति और सनातन धर्म के चिह्नों को संरक्षित करने की पहल की है।’’ उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने पहली बार संयुक्त राष्ट्र में योग का महत्व समझाकर अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का प्रस्ताव रखा, जिसे विश्व के 170 देशों ने स्वीकार किया। शाह ने आगे कहा कि विश्व भर में अलग अलग प्रकार से जीवन बिताने के रास्ते जब रूक जाते हैं, तब विश्व भर की दृष्टि सनातन धर्म और संस्कृति पर टिकती है। उन्होंने गीता के सार को आत्मसात करने की बात कहते हुए कहा, ‘‘इस बृजभूमि ने ऐसे व्यक्ति को जन्म दिया जिसने विश्व को गीता दी। श्रीकृष्ण के जीवन को समझकर उसके सार को ग्रहण करें, तो कोई संकट नहीं आएगा।’’
शाह ने कहा, ‘‘मैं दिल्ली में रहता हूं किन्तु मूलत: गुजरात से हूं। गुजरात और वृंदावन के बीच कभी ना टूटने वाला नाता श्रीकृष्ण ने बनाया है और इससे मुझे सदा यहां आकर काम करने की प्रेरणा मिलती है।’’ इस अवसर पर विश्व शांति धर्मार्थ न्यास के अध्यक्ष देवकीनंदन ठाकुर महाराज ने उनसे वृदांवन में यमुना को लाने, देश में गोहत्या पर रोक लगाने और अंग्रेजी माध्यम में स्कूलों की संस्कृति बंद करने की मांग की।

इस पर भाजपा अध्यक्ष ने प्रत्यक्ष उत्तर ना देते हुए कहा, ‘‘जो आपकी भावना है, वही मेरी भी है। भाजपा सरकारें इसी रास्ते पर चली हैं और चलती रहेंगी। जनता का जितना आशीर्वाद मिलेगा, गति उतनी ही तेज होगी।’’ इस अवसर पर कबीना मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा, ‘‘आज पूरा विश्व भौतिकी की ओर अग्रसर है और मानवता को शांति के पथ पर मात्र हिन्दू संस्कृति और सनातन धर्म ले जा सकते हैं।’’ समारोह में हरियाणा के राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी, मध्य प्रदेश की कबीना मंत्री माया सिंह, छत्तीसगढ़ के कबीना मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, मथुरा की सांसद और अभिनेत्री हेमा मालिनी, भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नेता इंद्रेश कुमार उपस्थित थे।
कभी विश्व गुरु रहे भारत की, धर्म संस्कृति की पताका;
विश्व के कल्याण हेतू पुनः नभ में फहराये | - तिलक